Giloy kya hai? Giloy ke fayde kya hai? Iska use kaise kare?

नमस्कार दोस्तों!
                मै रंजन गुप्ता आप सभी का हमारी वेबसाइट Rasonet में तहे दिल से स्वागत करता हूं। आज के पोस्ट में मैं आपको गिलोय के बारे में बताने वाला हूं कि गिलोय क्या है यह कहां पाया जाता है इसके फायदे क्या है इत्यादि।


तो सबसे पहले हम लोग जान लेते हैं कि गिलोय आखिर है क्या और यह कहां पाया जाता है?

Giloy kya hai? Giloy ke fayde kya hai?

Giloy kya hai?

 गिलोय एक औषधीय पेड़  है। इसका पत्ता देखने में पान के पत्ते के आकार के जैसा होता है।


गिलोय को भारत सरकार के द्वारा राष्ट्रीय औषधि घोषित करने की पहल की गई है। इसके टहनी और पत्तों को स्वास्थ्य लाभ के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका कैप्सूल भी मिलता है। प्राचीन काल में इसे अमृत कहा जाता था।

 इससे आप समझ सकते हैं कि इसे कितनी बड़ी उपाधि दी गई थी।

यह एक ऐसा पौधा है जिसके काढ़ा का सेवन करके आप अपने शरीर को वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से बचा सकते हैं।

गिलोय में एक विशेषता है कि यह कभी सड़ता नहीं है न ही इसमें कभी bacteria या virus पैदा होता है।


अब हमलोग जानेंगे कि गिलोय का अन्य भाषा में किस किस नाम से जानते हैं?

गिलोय का अन्य नाम क्या है?

गिलोय का biological name tinospora cordifolia ( टीनोस्पोरा कोर्डीफोलिया) हैं।
गिलोय को  गुजराती भाषा में गालों, कन्नड़ में अमरदबल्ली, मराठी में गुलबेल, तेलुगु में गोधुची, फारसी में गिलाई कहा  जाता है और अंग्रेजी में giloy, the root of immortality कहा जाता है। इसका फल लाल रंग का होता है।


Giloy ke fayde kya hai?


👉 दोस्तों, हम सभी जानते हैं कि वैश्विक महामारी कोरोनावायरस अभी बहुत ही तेजी से फैल रहा है।

 ऐसे में खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रखाना हमारा कर्तव्य है। दोस्तों, मैं आपको बता दूं यह सिर्फ कोरोनावायरस से बचने के लिए ही नहीं बल्कि सभी प्रकार के रोगों से बचने का सरल उपाय है। फिर चाहे वह बुखार हो या मलेरिया हो या डायबिटीज हो या अर्थराइटिस, इत्यादि।

वर्तमान में हम लोगों को एक छोटा सा जो जुकाम भी होता है तो डॉक्टर के पास चले जाते हैं और दवा खा लेते हैं जबकि इसका इलाज हमारे आसपास ही मौजूद होता है जिससे हमलोग अनभिज्ञ रहते हैं।

हिंदुस्तान के आम आदमी, गरीब आदमी, किसान इन सभी की आधी कमाई दवाई में और आधी कमाई पढ़ाई में बर्बाद होती है।

शिकंजी के फायदे जान कर हैरान रह जाएंगे।

ऐसी में गिलोय का काढा स्वाइन फ्लू, सर्दी, जुकाम, डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, प्लेटलेट्स, अर्थराइटिस, अस्थमा, किसी भी तरह की पोषक तत्वों की कमी मोटापा और इसके साथ-साथ इम्यून सिस्टम के कमजोर होने से बचाता है।

यकीन मानिए दोस्तों गिलोय के काढ़ा को पीने से कभी भी प्लेटलेट्स की कमी नहीं होगी और न ही कभी भी दवा का सेवन करना पड़ेगा।

👉 दोस्तों, अगर आपकी eyesight कमजोर है और आजकल बच्चों की बहुत कमजोर हो रही है अगर आपके बच्चे की भी कमजोर हो रही है तो इसका प्रयोग जरूर करें।

इसके प्रयोग से धीरे-धीरे आई साइट अच्छी हो जाती है।

👉 दोस्तों, अगर आपको लिवर में समस्या है और लिवर का function ठीक से काम नहीं कर रहा है इन तमाम समस्या से गिलोय काफी का प्लाट साबित होता है इसका आप नियमित सेवन करें जिससे लिवर के function मुंह अच्छा कर देगा।।


👉 अगर आपको त्वचा की समस्या है जैसे एग्जिमा, एक्ने, कील मुंहासे, fungal infection, इत्यादि।

तो आप गिलोय का प्रयोग अवश्य करें यह काफी लाभप्रद होता है।


इसके नियमित सेवन से आप किसी भी प्रकार के रोग से ग्रसित नहीं होंगे।

दोस्तों, अब हम लोग जानेंगे की गिलोय का पौधा कहां पाया जाता है?

गिलोय कहां पाया जाता है?

गिलोय का पौधा आपको खाली मैदान में, सड़क पर, बगीचे में, खाली जगह में आसानी से मिल जााएगा जो बहुत ही गुणकारी पौधा है।

 दोस्तों, यह आसानी से मिल तो जाता है परंतु इसका सही उपयोग बहुत कम लोग ही जानते हैं।



दोस्तों, यह गांव में आसानी से मिल तो जाता है परंतु इसकी  जानकारी के अभाव के कारण लोग इसका उपयोग नहीं कर पाते और हजारों बीमारियों से झुझते रहते हैं।

गिलोय का पौधा वर्षा ऋतु में बहुत सारे पेड़ों के चारों ओर लग जााते हैं और फैल जाते है।


गिलोय का प्रयोग कैसे करे?

दोस्तों, अगर आप शहर में रहते है तो गिलोय आपको  ayurvedic  store में आसानी से मिल जाएगा।

इसके कैप्सूल को आपको प्रतिदिन एक सुबह में और एक शाम में खाना है। बाजार में गिलोय का जूस आसानी से मिल जाता है आप इसे खरीद सकते हैं।


अगर आप गांव में रहते हैं तो वह इसका पौधा आपको खाली मैदान में आसानी से मिल जाएगा लेकिन ध्यान रहे इसके पत्ते का आकार स्क्रीन पर दिखाएं गए पत्ते के जैसा ही होगा और इसकी पहचान इसके फल से ही होती है।

 इसका फल लाल रंग का होता है जिसके अंदर बीज होता है।


 दोस्तों, सबसे पहले आपको इस पौधे का टहनी तोड़ कर ले आनाा है। और प्रतिदिन रात में आपको अनामिका उंगली जितने बड़े टहनी को ले लेना है।

Giloy kya hai? Giloy ke fayde kya hai?


 उसके 2 से 3 टुकड़े करके 2 कप पानी में रख देना है और सुबह उठने के बाद गर्म कर लेना है और जब 1 कप पानी बच जाए तो खाली पेट ब्रश करने से पहले ही उसे पी लेना है।

👉 Must read:- Roposo App se paise kaise kamaye?


दोस्तों, यह सिर्फ एक व्यक्ति के लिए है और अधिक व्यक्ति के लिए आपको इसी तरह इसके मात्रा को बढ़ा देना है


आपको इसका असर 1 सप्ताह में ही देखने को मिलेगा शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द नहीं होगा और रोग प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत रहेगा जिससे वैश्विक महामारी  कोरोनावायरस आपकी बॉडी पर हमला नहीं करेगा बसंती आपको मास्क और सेनीटाइजर का प्रयोग करते रहना है।


दोस्तों, अगर आप मास्क और सैनिटाइजर का प्रयोग नहीं करेंगे तो दुनिया का कोई भी दवा आपको नहीं बचा सकता है।

तो दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट से संबंधित सारी जानकारी मिल गई होंगी। आशा करता हूं कि आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा। आपको यह पोस्ट कैसा लगा कमेंट करके जरूर बताएं। अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो  share और follow जरूर करें।
धन्यवादआपका दिन शुभ हो।

ये भी पढ़ें :-

👉 Healthy diet for gaining weight.


Previous
Next Post »

2 comments

Click here for comments
Unknown
admin
July 25, 2020 at 10:37 AM ×

Very nice 👌 👌

Reply
avatar
HealthFloat
admin
July 4, 2021 at 2:18 PM ×

You write this article with very good information. Informative Article
Thanks you for good information and good inspration.

Reply
avatar

Post kaisa lga jarur btay ConversionConversion EmoticonEmoticon